उरी सेक्टर पर पाकिस्तानी गोलीबारी में उत्तराखंड के दो जवान हुए शहीद

पिथौरागढ़. जम्मू-कश्मी के उरी सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से की गई गोलीबारी में उत्तराखंड के दो जवान शहीद हो गए. दोनों शहीद जवान 21 कुमाऊं रेजीमेंट में तैनात थे. जवानों के पार्थिव शरीर को रविवार को उनके पैतृक गांव लाया जाएगा. वहीं, भारत की ओर से की गई जवाबी कार्रवाई में पाकिस्‍तान के पांच सैनिक भी ढेर हो गए.

पिथौरागढ़ जिला मुख्यालय से लगभग 64 किमी दूर मुनस्यारी तहसील के ग्राम नापड़ निवासी गोकर्ण सिंह जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्‍टर में गोलीबारी में शहीद हो गए. ग्राम प्रधान नापड़ की सूचना के अनुसार शुक्रवार देर सायं इसकी जानकारी मिली. गोकर्ण सिंह (40) कुमाऊ में जम्मू-कश्मीर के उड़ी सेक्टर में तैनात थे. शहीद जवान की दो बच्‍चे हैं. उनका 17 वर्ष का लड़का और 15 वर्ष की लड़की है. शहीद का परिवार वर्तमान में बरेली में किराए पर रहता है.

वहीं, शहीद जवान शंकर सिंह मेहरा (30) गंगोलीहाट तहसील के नाली गांव के रहने वाले थे. मेहरा सेना में नायक के पद पर तैनात थे. लंबी छुट्टी अपने घर में गुजारने के बाद मेहरा एक महीने पहले ही ड्यूटी पर गए थे. मेहरा अपने पीछे बूढ़े माता-पिता के अलावा पत्नी और 5 साल के छोटे बेटे को छोड़ गए हैं. जबकि शहीद शंकर सिंह के भाई भी जम्मू-कश्मीर में ही सेना में तैनात हैं.

हेलीकॉप्टर की मदद से लाए जाएंगे पार्थिव शरीर
एक साथ जिले के दो जवानों के शहीद होने से क्षेत्र में कोहराम मचा हुआ है. परिजनों का जहां रो-रो कर बुरा हाल है, वहीं, जानने वाले सांत्वना जताने शहीदों के परिजनों के पास जा रहे हैं. डीएम पिथौरागढ़ विजय जोगदंडे ने बताया कि दोनों जवानों के पार्थिव शरीर को रविवार को हेलीकॉप्टर की मदद से बरेली स्थित सेना मुख्यालय लाया जाएगा. उसके बाद अगर मौसम ठीक रहा तो हेलीकॉप्टर की ही मदद से पिथौरागढ़ ब्रिगेड हेडक्वार्टर लाया जाएगा.

हमें अपने जवानों की शहादत पर गर्व है
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पिथौरागढ़ 21 कुमाऊं रेजीमेंट के हवलदार गोकर्ण सिंह और नायक शंकर सिंह की शहादत को नमन किया है. उन्होंने कहा कि एक ओर हमें अपने जवानों की शहादत पर गर्व है वहीं उन्हें खोने का दुख भी है. ईश्वर उनके परिजनों को धैर्य प्रदान करें. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा शहीदों के परिजनों को हर संभव मदद की जायेगी.

ये भी पढ़ें:- गंगोत्री-यमुनोत्री धाम के कपाट खुले, PM मोदी के नाम से हुई पहली पूजा

VOI News पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें.