उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में टीम अन्ना करेगी ‘AAP’ का विरोध

देहरादून. उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 में आम आदमी पार्टी (AAP) सभी 70 सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुकी हैं. तो वहीं, टीम अन्ना चुनावों में आम आदमी पार्टी (AAP) विरोध करेंगी. इतना ही नहीं, अन्ना हजारे टीम सक्रिय रूप से इस चुनाव में अपनी भूमिका निभाने की बात कह रही है.

बता दें कि टीम अन्ना हजारे का उद्देश्य राजनीति करना नहीं, बल्कि आम आदमी पार्टी के उत्तराखंड में चुनाव लड़ने के फैसले के सामने आना है. तो वहीं, आम आदमी पार्टी के अध्यक्ष व दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाते हुए राष्ट्रीय कोर कमेटी सदस्य और किसान मंच के प्रदेश अध्यक्ष भोपाल सिंह चौधरी ने कहा, ‘अन्ना हजारे के साथ धोखे का बदला यही लिया जाएगा.

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी को अपनी राजनीति करने के उत्तराखंड की जमीन पर पैर जमाने का मौका नहीं दिया जाएगा. अन्ना हजारे ने जब साल 2011 में दिल्ली में जन लोकपाल बिल के लिए आंदोलन किया था तब वह अरविंद पर सबसे अधिक विश्वास करते थे और उन्होंने चंदे में आए पैसों के साथ साथ अन्य महत्वपूर्ण फैसलों का अधिकार भी अरविंद को ही दिया था.

जब अन्ना देश के लिए जन लोकपाल की लड़ाई लड़ रहे थे और अनशन पर बैठे थे तब अरविंद अपनी राजनीति की जमीन तैयार कर रहे थे. जिस जन लोकपाल के अन्ना लड़ रहे थे. केजरीवाल ने अपने स्वार्थ के लिए उसी को खत्म कर दिया. चौधरी ने इसके आगे कहा कि आम आदमी पार्टी ने भले ही उत्तराखंड में सभी विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया हो. लेकिन हम इसका पूरी तरह से विरोध करेंगे.

इतना ही नहीं, उन्होंने आम आदमी पार्टी के ट्विटर अकाउंट से नंदा देवी पर्वत और गाजीपुर के कूड़े के ढेर की तुलना किए जाने पर भी नाराजगी जताई. उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले अरविंद केजरीवाल के साथ उनकी आम आदमी पार्टी सच भी वह लोगों के सामने लेकर आएंगे. क्योंकि केजरीवाल की तरह ही उनकी पार्टी भी झूठ और छल की बुनियाद पर टिकी हुई है.

ये भी पढ़ें:- केजरीवाल की पार्टी उत्तराखंड चुनाव में CONG-BJP को देगी टक्कर

VOI News पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूबफेसबुकटेलीग्राम और ट्विटर पर फॉलो करें.