Kumbh Mela 2021: कुंभ जा रहे हैं तो जान लें स्नान के नए नियम

haridwar kumbh mela 2021

haridwar kumbh mela 2021: अगर आप भी कुंभ मेले (kumbh mela) में स्नान करने के लिए हरिद्वार (haridwar) जा रहे है तो यह खबर आपके लिए बेहद खास है. दरअसल, कुंभ मेले में आने वाली भीड़ को सु-व्यवस्थित रखने के लिए पुलिस ने नई व्यवस्था लागू की है. इस व्यवस्था के तहत हरकी पैड़ी और आसपास के गंगा घाटों में स्नान करने वाले श्रद्धालु तीन ही डुबकी लगा सकेंगे.

यह नई व्यवस्था इसलिए की गई है ताकि, हर कोई श्रद्धालु गंगा स्नान कर पुण्य कमा सकें. आईजी मेला संजय गुंज्याल ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि, हरकी पैड़ी आने वाले श्रद्धालुओं को गंगा में तीन डुबकी लगाने दी जाएगी. इसके बाद श्रद्धालुओं को गंगाजी से बाहर आना होगा. ताकि हरकी पैड़ी पर स्नान को आ रहे प्रत्येक श्रद्धालु स्नान कर सकें.

बताया कि घाटों की सीढ़ियों पर पुलिसकर्मी भी तैनात रहेंगे, जो लोगों को इस बात की जानकारी देते रहेंगे. कहा कि कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं को जागरुक भी किया जा रहा है और मेला पुलिस लगातार अनाउंसमेंट भी करेगी. बता दें कि 14 जनवरी यानि मकर संक्रांति से ही कुंभ मेले की शुरूआत हो चुकी है और श्रद्धालुओं की भीड़ हरिद्वार पहुंचने लगी है.

कुंभ में पूरी दुनियाभर से लोग पहुंचते हैं. इसी कारण सुरक्षा के लिहाज से संवेदनशील हरकी पैडी पर स्नान करना किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं है. बताते हैं कि यहां हर पांच मिनट में हरकी पैडी पर 10 हजार लोग स्नान कर सकते हैं. कुछ पर्व स्नान पर इतनी भीड़ उमड़ती है कि हरकी पैड़ी और आसपास के घाट फुल हो जाते हैं.

लगातार भीड़ आने से यहां के घाट लबालब भर जाते हैं जिस कारण हरकी पैड़ी पर दबाव बन जाता है. बीते साल सोमवती अमावस्या के स्नान पर यह सब देखने को मिला था. उस स्नान में उमड़ी भीड़ ने पुलिस अधिकारियों के हाथ पांव फुला दिए थे. डीजीपी अशोक कुमार को हरिद्वार पहुंचना पड़ा था.

कुंभ में इस तरह की स्थिति न हो इसके लिए तीन डुबकी लगाने की योजना बनाई जा रही है. तीन डुबकियों से ज्यादा लगाने वालों पर पुलिस फोकस करेगी. यह इसलिए किया जा रहा है ताकि भीड़ न हो और हरकी पैड़ी पर हर कोई स्नान कर सकें. कहा जाता है कि तीन डुबकी लगाने से तीनों लोकों का फल मिल जाता है.

ये भी पढ़ें:- VIDEO: कुल्लू में सड़क पर निकला तेंदुआ, लोगों के साथ खेलता दिखा

VOI News पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक, टेलीग्राम और ट्विटर पर फॉलो करें.