योगी सरकार UP को बनाएगी स्वदेशी खिलौनों का हब, लोगों को मिलेगा रोजगार

लखनऊ. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से स्वदेशी चीजों को अपनाने की जो अपील की थी. वह अब भी रंग ला रही है. देश में स्वदेशी खिलौनों की बढ़ती हुई मांग को देखते हुए यूपी में योगी सरकार के द्वारा खिलौना उत्पादन हब को बनाने की तैयारी की जा रही है. राज्य सरकार खिलौनों के उत्पादन को बढ़ाकर 3 लाख से ज्यादा लोगों को नौकरी देने पर विचार कर रही है. जिसके लिए सरकार नई खिलौना नीति भी बनाने जा रही है. जिसे जल्द ही कैबिनेट में भी प्रस्तुत किया जाएगा. इस नीति के अंतर्गत 5 सालों में 20 हजार करोड़ का लक्ष्य निर्धारित किया गया है.

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस बड़े निवेश के कदम पर अंतिम फैसला लेंगे. इस खिलौना उत्पादन हब में देशी और विदेशी निवेशकों को पूंजी, ब्याज, ज़मीन की ख़रीद और स्टैम्प ड्यूटी, पेटेंट, बिजली परिवहन सहित अन्य सुविधाएं सब्सिडी के साथ देने पर विचार किया जा रहा है. इसके अलावा महिला निवेशक और अर्धसैनिक बलों से जुड़े लोगों को अन्य प्रकार की सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जाएंगी. इस खिलौना हब को बढ़ावा देने से सबसे ज्यादा उन जिलों को लाभ होगा. जो अभी भी इंडस्ट्री के मामले में पिछड़े हुए हैं. इनमें जिलों में चित्रकूट, गोरखपुर, आज़मगढ़ भी शामिल हैं.

यूपी सरकार ने 2018 में झांसी के सॉफ्ट टॉयज को अपने फ्लैगशिप योजना ओडीओपी में शामिल करके इसे पहले से बेहतर बनाने के प्रयास शुरू कर दिए थे. जिसकी डीएसआर रिपोर्ट भी तैयार की जा चुकी है. खिलौना जानकारों के अनुसार भारत में इस समय 90 प्रतिशत खिलौने चीन और ताइवान से आ रहे हैं. यदि वैश्विक कारोबार में भारत की भागीदारी की बात की जाए तो वह भी सिर्फ 5 प्रतिशत ही है. लेकिन हाल ही में चीनी खिलौनों के बाजार में कमीं देखने को मिली है. जो यूपी सरकार के लिए एक अच्छा मौका है. जिससे वह राज्य को इसका फायदा दे सकती है.

ये भी पढ़ें:- बनारस के नाविकों की मदद करेंगे सोनू सूद, बोले- कोई नहीं सोएगा भूखा

VOI News पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक, टेलीग्राम और ट्विटर पर फॉलो करें.