UP के अंदर नियंत्रण में है कोरोना की स्थिति, सीएम Yogi Adityanath ने कहा

Yogi Adityanath

Yogi Adityanath News, लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोविड-19 के संबंध में अपनाई गई रणनीति का ही यह परिणाम है कि आज प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण में है. इसके बावजूद अभी भी इस महामारी के प्रति हर स्तर पर सतर्कता बरतना आवश्यक है. इस संबंध में थोड़ी लापरवाही भी भारी पड़ सकती है. उन्होंने कोविड-19 से बचाव तथा उपचार की प्रभावी व्यवस्था को बनाए रखने के निर्देश दिए हैं.

सीएम ने आज यहां लोक भवन में आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे. उन्होंने कहा कि वर्तमान में कोरोना वैक्सीनेशन अभियान का प्रथम चरण प्रगति पर है. इसके अन्तर्गत हेल्थ वर्कर्स को वैक्सीन की प्रथम डोज दी जा रही है. उन्होंने वैक्सीनेशन कार्य को भारत सरकार की गाइडलाइन्स तथा क्रम के अनुरूप संचालित करने के निर्देश दिए हैं.

कहा कि आगामी तीन सप्ताह में समस्त हेल्थ वर्कर्स का वैक्सीनेशन कार्य पूरा किया जाए. पहले चरण में वैक्सीनेट किए गए लोगों को कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज 15 फरवरी, 2021 से दिया जाना शुरू किया जाए. उन्होंने कोविड-19 वैक्सीनेशन अभियान के द्वितीय चरण की सभी तैयारियां समय से सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं. बैठक में सीएम को अवगत कराया गया कि कोरोना वैक्सीनेशन कार्य के दृष्टिगत प्रदेश के पुलिस आदि विभिन्न सुरक्षा बलों का डाटा बेस तेजी से तैयार किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि कोविड-19 की चेन को तोड़ने में टेस्टिंग की महत्वपूर्ण भूमिका है. इसके दृष्टिगत प्रदेश में टेस्टिंग कार्य को पूरी क्षमता से संचालित किया जाए. उन्होंने प्रतिदिन कोविड-19 के कम से कम 1.50 लाख टेस्ट किए जाने के निर्देश दिए हैं. सीएम ने निर्देशित किया कि सर्विलांस सिस्टम तथा कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग को पूरी सक्रियता से जारी रखा जाए. साथ ही समस्त कोविड चिकित्सालयों में आवश्यक दवाओं, मेडिकल उपकरणों एवं ऑक्सीजन की बैकअप सहित पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जाए.

ये भी पढ़ें:- मुंबई के लिए रवाना हुई यूपी पुलिस की टीम, ‘Tandav’ वेब सीरीज के निर्मातओं से करेगी पूछताछ

जनपदों में स्थापित इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर को प्रभावी बनाए रखते हुए कोविड-19 के नियंत्रण की कार्यवाही सुचारु ढंग से की जाए. उन्होंने कोविड-19 से बचाव के संबंध में आमजन को निरन्तर जागरूक किए जाने के निर्देश भी दिए हैं. सीएम ने कहा कि मुख्यमंत्री आरोग्य मेलों को पोषण सम्बन्धी गतिविधियों से भी जोड़ा जाए. इस आयोजन में आयुष्मान भारत योजना तथा मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान के संबंध में जानकारी दी जाए.

पात्र लाभार्थियों को इन योजनाओं के गोल्डन कार्ड प्रदान किए जाने की व्यवस्था भी की जाए. उन्होंने मुख्यमंत्री आरोग्य मेलों के दौरान लोगों को कोविड-19 से बचाव के सम्बन्ध में जागरूक किए जाने तथा आरोग्य मेलों में रैपिड एन्टीजन टेस्ट की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने के निर्देश भी दिए हैं.

VOI News पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूबफेसबुकटेलीग्राम और ट्विटर पर फॉलो करें.

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।