Kuldeep Singh Sengar दोषी करार, कल सुनाई जाएगी सजा

नई दिल्ली: भाजपा से निष्कासित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर (Kuldeep Singh Sengar) को तीस हजारी कोर्ट ने दोषी करार दिया है. हालांकि कोर्ट विधायक कुलदीर सिंह सेंगर (Kuldeep Singh Sengar) पर अपना फैसला कल सुनाएंगी.

वहीं, तीस हजारी कोर्ट ने इस मामले में एक अन्य आरोपी शशि सिंह को बरी कर दिया है. इससे पहले कोर्ट ने 10 दिसंबर को सुनवाई के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था.

सेंगर को पॉक्सो एक्ट के तहत दोषी ठहराया
तीस हजारी कोर्ट ने कुलदीप सिंह सेंगर (Kuldeep Singh Sengar) को भारतीय दंड संहिता की धारा 376 के सेक्शन 5(c) के तहत यानी पॉक्सो एक्ट के तहत दोषी ठहराया है. इस मामले में जुलाई में दुष्कर्म पीड़िता की कार को ट्रक द्वारा मारी गई टक्कर में उसकी दो चाची की मौत हो गई थी.

इस मामले की गंभीरता को देखते हुए उच्चतम न्यायालय के आदेश पर मुकदमे को लखनऊ से दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में स्थानांतरित कर दिया गया था.

अगवा कर किया था रेप
इसके बाद न्यायाधीश ने पांच अगस्त से प्रतिदिन मुकदमे की सुनवाई की थी. कुलदीप सिंह सेंगर (Kuldeep Singh Sengar) पर आरोप है कि जब पीड़िता नाबालिग थी, तब 2017 में उसे अगवा कर रेप किया था. बता दें कि उत्तर प्रदेश के बांगरमऊ से चार बार भाजपा के टिकट पर विधायक रहे सेंगर को अगस्त 2019 में पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था.

शशि सिंह को मिला संदेह का लाभ
कोर्ट ने शशि सिंह की मामले में भूमिका को संदेह के घेरे में रखा. ‌सिंह के खिलाफ पर्याप्त सबूत न होने और न ही मामले में सीधे तौर पर भूमिका स्पष्ट होने के चलते कोर्ट ने उन्हें संदेह का लाभ देते हुए मामले से बरी कर दिया है.

ये भी पढ़ें:- आजम खान को इलाहाबाद हाईकोर्ट से लगा झटका, बेटे अब्दुल्ला का निर्वाचन रद्द

VOI News पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक, टेलीग्राम और ट्विटर पर फॉलो करें.