दिल्ली मेट्रो को मिली उपराज्यपाल की हरी झंडी, DMRC पूरी तरह से तैयार

दिल्ली. कोरोना वायरस की वजह से लगभग पांच महीने से बंद पड़ी मेट्रो अब जल्द ही पटरी पर दौड़ने वाली है. दिल्ली में मेट्रो की सेवा को फिर से शुरु करने के लिए उपराज्यपाल अनिल बैजल ने मंजूरी दे दी है. मेट्रो सेवा की यह मंजूरी बुधवार को दिल्ली में हुई आपदा प्रबंधन की बैठक में अनिल बैजल के द्वारा दी गई है. जिसके बाद डीएमआरसी 7 सितंबर से मेट्रो को संचालन शुरू कर सकती है. लेकिन अभी इसके बारे पूरी जानकारी आना अभी बाकी है.

कोरोना संक्रमण को देखते हुए दिल्ली सरकार भी मेट्रो के नियमों में भी कुछ बदलाव कर सकती है. मेट्रो के चरणों में अलग-अलग लाईनों पर मेट्रो सेवाएं शुरू की जा सकती है. मेट्रो में सफर करने वाले यात्री टोकन नहीं ले सकेंगे. इसके साथ ही हर कोच में सफर करने वाले लोगों की संख्या को भी सीमित कर दिया जाएगा. जिससे भीड़भाड़ न हो सके. इसके अलावा डीएमआरसी भी अपनी तरफ से यात्रियों की सुरक्षा के लिए ठोस कदम उठा रही है.

सूत्रों की मानें तो डीएमआरसी अलग-अलग लाईनों पर संख्या, कंटेमेंट जोन सहित अन्य पहलुओं का विश्लेषण करके ही चरणबद्ध तरीके से मेट्रो सेवा शुरू करेगा. दिल्ली में एयरपोर्ट एक्सप्रेस को मिलाकर मेट्रो की कुल 10 लाइन हैं. जिस पर यात्रियों की संख्या के साथ-साथ उनकी सुरक्षा को लेकर भी विचार किया जा रहा है. वहीं इसके साथ ही कई मेट्रो ट्रेनों में एयर कडिशनिंग सिस्टम को बदलने की बात भी कही जा रही है.

दिल्ली परिवहन मंत्री की तरफ से भी मेट्रो स्टेशनों की लिस्ट तैयार किए जाने की बात कही जा रही थी. जिससे यात्रियों को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो. एयरपोर्ट लाइन पर यात्रियों की संख्या इस समय पर कम है. इसलिए इस लाइन में कुछ बदलाव किए जा सकते हैं. इसके अलावा डीएमआरसी मेट्रो सेवा शुरू करने से पहले स्टेशनों के आसपास सफाई और मरम्मत का काम भी कर रहा है. कई मेट्रो स्टेशनों पर फुटपाथ पर टाइल्स लगाने का काम भी शुरु हो गया है.

ये भी पढ़ें:- केजरीवाल की पार्टी उत्तराखंड चुनाव में CONG-BJP को देगी टक्कर

VOI News पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूबफेसबुकटेलीग्राम और ट्विटर पर फॉलो करें.