हल्द्वानी में बनेगा कोरोना मरीजों के इलाज के लिए प्लाज्मा बैंक

हल्द्वानी. उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार अब हल्द्वानी में कोरोना से संक्रमित मरीजों के लिए प्लाज्मा बैंक बनाने जा रही है. इसके लिए डीएम की तरफ से सीएमओं को आदेश भी दे दिए गए हैं. इस प्लाज्मा बैंक में उन मरीजों को प्लाज्मा इकट्ठा किया जाएगा जो इस कोरोना वायरस की बीमारी से पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं.

डीएम सविन बंसल ने बताया की नैनीताल के सुशीला तिवारी कोविड अस्पताल से जो भी कोरोना पॉजिटिव मरीज ठीक हुए हैं उनका डाटा इकट्ठा किया जा रहा है. इस प्लाज्मा बैंक को बनाने के लिए डीएम ने 2.5 लाख रुपए का फंड भी दिया है.

जब यह डाटा बेस तैयार हो जाएगा. उसके बाद मुख्य चिकित्साधिकारी और सुशीला तिवारी चिकित्सालय प्रबंधन इसे एक दूसरे के साथ शेयर करेंगे. इस डाटा को हर दिन अपडेट किया जाएगा. डीएम का कहना है कि जो भी कोरोना पॉजिटिव मरीज अस्पताल से ठीक होकर डिस्चार्ज होगा उससे प्रबंधन प्लाज्मा डोनेशन का फॉर्म भरवाएगा. जिससे जब भी प्लाज्मा के लिए उसकी जरूरत हो उसे बुलाया जा सके.

डीएम के अनुसार प्लाज्मा थेरपी के लिए जिले में प्लाज्मा बैंक बनाने की तैयारी की जा रही है. जिसमें नैनिताल पहला पहला ऐसा जिला होगा जहां पर प्लाज्मा बैंक बनाया जाएगा. डीएम बंसल के प्लाज्मा बैंक बनने के बाद कोरोना पॉजिटीव व्यक्तियों का इलाज प्लाज्मा थेरपी से किया जाएगा.

इसके साथ ही प्लाज्मा डोनर के ब्लड ग्रुप के साथ ही उसका मोबाइल नंबर, पता तथा अन्य सूचनाएं रिकार्ड मे रखी जाएंगी. जो भी व्यक्ति अपना प्लाज्मा देगा वह प्लाज्मा वारियर्स के नाम से जाना जाएगा. इतना ही नहीं उस व्यक्ति को प्रशस्ति पत्र और गिफ्ट देकर सम्मानित भी किया जाएगा.

प्लाज्मा थेरपी क्या है
हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. सीपी भैसोड़ा ने बताया कि प्लाज्मा वही व्यक्ति दे सकता है. जो कोरोना से संक्रमित होकर ठीक हुआ हो. जो भी व्यक्ति कोरोना के संक्रमण से ठीक होता है उसके शरीर में एंटीबॉडी यानी कोरोना से लड़ने वाले तत्व पैदा होते हैं, जो प्लाज्मा की तरह उसके खून में घुल जाते हैं.

इसके बाद जो भी कोरोना वॉयरस से गंभीर रूप से संक्रमित हुआ हो उसका इलाज प्लाज्मा थेरपी से किया जा सकता है. जिससे वह ठीक हो सके. हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज और एम्स ऋषिकेश में प्लाज्मा थेरपी से ही मरीजों का ईलाज किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें:- उत्तराखंड में 12 सौ कांस्टेबलों को बनाया जाएगा हेड कांस्टेबल

VOI News पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूबफेसबुकटेलीग्राम और ट्विटर पर फॉलो करें.