Coronavirus को उत्तराखंड में किया महामारी घोषित, 31 मार्च तक सभी सिनेमाघर और कॉलेज बंद

देहरादून: कोरोना वायरस से देश के अंदर अब तक 2 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 83 से ज्यादा लोग इस संक्रमण से पीड़ित है. वहीं, 10 लोग कोरोना वायरस से स्वस्थ हुए है. कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए उत्तराखंड सरकार ने इसे महामारी घोषित कर दिया है. इस बात की पुष्टि शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने की है. साथ ही उन्होंने बताया कि स्कूल और आंगनबाड़ी के बाद राज्य के सभी कॉलेज, सिनेमाघर और मल्टीप्लेक्स 31 मार्च तब बंद रहेंगे, लेकिन मेडिकल कॉलेज खुले रहेंगे.

उत्तराखंड सरकार ने 14 मार्च को मंत्रिपरिषद और मंत्रिमंडल की बैठकें बुलाई. मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में कोरोनो वायरस को लेकर यह फैसला लिया गया. इसमें सबसे खास बात ये है कि कोरोना को राज्य सरकार ने महामारी घोषित कर दिया है. प्रदेशभर में कोरोना से बचाव के मद्देनजर सावधानी व जागरुकता पर जोर दिया गया है. वहीं राज्य में आइसोलेशन वार्ड के लिए 50 करोड़ की राशि मंजूर की है. साथ ही किसी भी प्रकार के कार्यक्रम से पहले सरकार से अनमुति लेनी जरूरी होगी. कोरोना को देखते हुए नर्सिंग स्टाफ के खाली पद भरे जाएंगे.

बता दें कि 12वीं तक के स्कूलों और विद्यालयों में 31 मार्च तक अवकाश घोषित किया गया है. वहीं सरकारी और प्राइवेट कार्यालयों में बायोमीट्रिक हाजिरी पर भी रोक लगाई जा चुकी है. वहीं, कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर सतर्कता बरत रहे प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीमें लगातार विभिन्न अस्पतालों और संस्थानों से संपर्क कर रही हैं.

दो ट्रेनी आईएफएस समेत छह के सैंपल जांच को भेजे
कोरोना की आशंका के चलते दो ट्रेनी आईएफएस समेत छह और मरीजों के सैंपल शनिवार को जांच के लिए वायरोलॉजी लैब हल्द्वानी भेजे गए हैं. इस तरह से जिले से शनिवार तक 20 सैंपल जांच के लिए भेजे जा चुके हैं. जिसमें से अब तक आई सभी 11 मरीजों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है.

ये भी पढ़ें:- उत्तराखंड टूरिज्म की वेबसाइट हैक, दिल्ली हिंसा पर हैकरों ने लिखी ये बात