CM योगी ने किया ऑक्सीजन प्लांट का उद्घाटन, बोले- मिलेगा 72 घंटा का बैकअप

Oxygen plant

Lucknow News: उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े आयनॉक्स ऑक्सीजन प्लांट का सीएम योगी आदित्यनाथ ने वर्चुअल माध्यम से शुभारंभ किया. इस दौरान सीएम ने आयनॉक्स ग्रुप के पदाधिकारियों से संवाद भी किया. उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के दौरान प्रदेश सहित पूरे देश में ऑक्सीजन की मांग बढ़ी है. क्योंकि कोविड मरीजों के लिए ऑक्सीजन की ज्यादा जरूरत होती है.

उन्होंने कहा कि देश के पीएम नरेंद्र मोदी ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिए एक जन आंदोलन अभियान की शुरुआत की है. जिसके तहत कोरोना पर प्रभावी नियंत्रण के लिए जनभागीदारी द्वारा व्यवहार परिवर्तन तथा हैंड वॉश, सोशल डिस्टेसिंग, मास्क के उपयोग के संबंध में जागरुकता बढ़ाने का कार्य सुनिश्चित होगा. इससे लोगों को कोविड-19 के दृष्टिगत प्रोटोकॉल को अपने जीवन का हिस्सा बनाने में मदद मिलेगी.

सीएम ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार कोरोना नियंत्रण हेतु लगातार प्रयासरत है. इन प्रयासों का परिणाम है कि कोरोना की दर में निरंतर कम हुई है. उन्हेंने कहा कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के दौरान प्रदेश सहित पूरे देश में ऑक्सीजन की मांग बढ़ी है. क्योंकि कोविड मरीजों के लिए ऑक्सीजन की ज्यादा जरूरत होती है. कहा कि डिमांड के अनुरूप सप्लाई प्रदेश सरकार के लिए एक चुनौती थी.

प्लांट के शुभारम्भ होने से इस चुनौती को पार पाने में सफलता मिलेगी. उन्होंने कहा कि इस प्लांट के आरंभ होने से उत्तर प्रदेश, इण्डस्ट्रियल एवं मेडिकल ऑक्सीजन के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनेगा. कहा कि आईनॉक्स एयर उत्पाद (INOX Air Products) द्वारा राज्य सरकार के साथ फरवरी, 2018 में इन्वेस्टर्स समिट के दौरान मोदी नगर, गाजियाबाद में अल्ट्रा-हाई प्योरिटी क्रायोजेनिक ऑक्सीजन प्लांट (Ultra-High Purity Cryogenic Oxygen Plant) की स्थापना हेतु MOU किया गया था.

सीएम ने कहा कि प्रदेश सरकार ने पिछले तीन साल में निवेश का एक बेहतर माहौल तैयार किया है, जिसका परिणाम है कि प्रदेश में काफी निवेशक आ रहे है. ‘ईज ऑफ डूईंग बिजनेस’ में उत्तर प्रदेश दूसरे स्थान पर है. निवेश संभावनाओं की दृष्टि से उत्तर प्रदेश देश में एक महत्वपूर्ण केंद्र बन गया है. निवेश उत्तर प्रदेश के विकास व युवाओं के लिए माध्यम बना है. इसके साथ ही, देश और दुनिया के सामने प्रदेश की एक बेहतर छवि सामने आई है.

इस दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुशी जाहिर की कि आयनॉक्स ग्रुप आने वाले दिनों में मध्यांचल में भी ऑक्सीजन का प्लांट लगाएगी. उन्होंने कहा कि विगत कुछ दिनों में कोविड संक्रमण की दर में कमी आई है. जब तक कोरोना की कोई वैक्सीन या उपचान नहीं आ जाता, तब तक इसके संक्रमण से बचाव ही एक मात्र उपाय है. मोदी नगर में नवस्थापित यह ऑक्सीजन प्लांट वर्तमान में कोविड-19 संक्रमण के विरुद्ध संघर्ष में सहायक होगा.

यह है इस प्लांट की खासियत
इस प्लांट की कुल क्षमता 150 टन प्रति दिन लिक्वड मेडिकल ऑक्सीजन उत्पादित करने की है. यह प्रदेश का सबसे बड़ा ऑक्सीन प्लांट है. प्लांट में 1000 मीट्रिक टन लिक्विड ऑक्सीजन भण्डारण करने की भी क्षमता है. प्लांट द्वारा प्रदेश के करीब 200 सरकारी व निजी क्षेत्र के अस्पतालों को ऑक्सीजन सप्लाई की जाएगी. चिकित्सा क्षेत्र के अतिरिक्त ऑक्सीन का प्रयोग अन्य उद्योग जैसे- फार्मा एवं केमिकल, इलेक्ट्रॉनिक मैनुफैक्चरिंग आदि में भी किया जाएगा.

ये भी पढ़ें:- Bulandshahr: कोविड हॉस्पिटल में मिल रहा बेकार भोजन, डॉक्टर ने किया हंगामा

VOI News पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक, टेलीग्राम और ट्विटर पर फॉलो करें.