चिन्मयानंद केस: कांग्रेस की पदयात्रा पर योगी सरकार ने लगाई रोक, जितिन प्रसाद नजरबंद

शाहजहांपुर: चिन्मयानंद यौन शोषण मामले को लेकर लॉ छात्रा के पक्ष में न्याय पदयात्रा निकाल रही कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. इसके अलावा कांग्रेस नेता पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद को नजरबंद कर दिया. साथ ही प्रशासन ने जिला कांग्रेस कार्यालय पर कार्यक्रम के टैंट को भी उखड़वा दिया है और शाहजहांपुर में धारा 144 लागू कर दी है.

दरअसल, चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली छात्रा को न्याय दिलाने के लिए कांग्रेस की ओर से प्रस्तावित न्याय पदयात्रा को प्रशासन ने अनुमति देने से इंकार कर दिया था. कांग्रेस की यह न्याय यात्रा शाहजहांपुर से लखनऊ तक होनी थी. सिटी मजिस्ट्रेट ने बताया कि यात्रा पर रोक त्योहारों के मद्देनजर लगाई गई है. यात्रा निकाले जाने से कानून व्यवस्था बिगड़ने का अंदेशा था.

शाहजहांपुर के जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह ने बताया, “इस समय जिले में नवरात्रि, दुर्गापूजा, रामलीला के कारण धारा 144 लागू है, इस कारण यात्रा की अनुमति दिया जाना संभव नहीं है. वैसे भी यात्रा की अनुमति के लिए सात दिन पहले आवेदन करना पड़ता है, जबकि कांग्रेस के नेताओं ने ऐसा नहीं किया है. त्योहार भी शुरू हो गए है. ऐसे में अनुमति नहीं दी जाएगी.”

कांग्रेस विधानमंडल नेता अजय सिंह लल्लू और राष्ट्रीय सचिव अजय गुर्जर को हिरासत मे लेकर पुलिस लाइन लाया गया है. उनके साथ कई कार्यकर्ता भी पुलिस लाइन लाए गए हैं. वहीं, जितिन प्रसाद ने प्रशासन की कार्रवाई पर कहा कि योगी सरकार आवाज कुचल रही है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, “कांग्रेस की शांतिपूर्ण पदयात्रा को अनुमति ना देकर योगी सरकार न्याय की आवाज़ कुचल रही है. अन्याय के विरुद्ध आवाज़ उठाना हर भारतीय का अधिकार है और इसे कोई रोक नहीं सकता.”