कोरोना संकट के बीच आगरा के 75 पुलिसकर्मियों ने कराया मुंडन, जानिए क्यों

आगरा: कोरोना वायरस के बढ़ते संकट के बीच उत्तर प्रदेश के आगरा जिले से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है, जिसे सुनकर आप भी चौंक जाएंगे. दरअसल, फतेहपुर सीकरी पुलिस ने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए अनोखी तरकीब निकाली है. फतेहपुर सीकरी थाने के इंस्पेक्टर सहित 75 पुलिसकर्मियों ने सामूहिक मुंडन करा लिया.

इसके पीछे पुलिसकर्मियों का मानन है कि ऐसा करने से कोरोना संक्रमण का खतरा कम होगा. बता दें, सामूहिक मुंडन कराने के बाद सभी पुलिसकर्मी कस्बे में गश्त पर निकले तो लॉकडाउन के बावजूद लोग घर के दरवाजों, खिड़कियों से इन्हें देखकर हैरान रह गए. कोई इनका वीडियो बना रहा था तो कोई फोटो ले रहा था. इन पुलिसकर्मियों की फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे है.

थाने के प्रभारी निरीक्षक भूपेंद्र सिंह बालियान ने बताया कि हमने देखा कि कई लोग मुंह पर मास्क लगाने के साथ सिर को भी ढके हैं. डॉक्टर ने बताया कि कोरोना वायरस सिर के बालों में भी चिपक सकता है. वहां से सांस के जरिए अंदर जा सकता है इसलिए हमने मुंडन कराने का फैसला लिया. पूरा थाना इसमें सहमत था इसलिए सभी 75 कर्मियों ने मुंडन कराया है. मुंडन के दौरान सामाजिक दूरी का पूरा ध्यान रखा गया.

ये भी पढ़ें:- मेरा बाप जमात में हुआ था शामिल, बेटे ने पुलिस को बुलाकर भिजवाया क्वारंटाइन सेंटर

नहीं हुआ कोई उल्लंघन
मुंडन कराने वालों में प्रभारी निरीक्षक के अलावा निरीक्षक क्राइम अमित कुमार, नौ उपनिरीक्षक, 15 मुख्य आरक्षी और 49 आरक्षी शामिल हैं. मुंडन के बाद सभी पुलिसकर्मी कस्बे में गश्त पर निकले. लोग इतने सारे पुलिसवालों को ऐसी अवस्था में देखकर चौंक गए. इंस्पेक्टर का कहना है कि मुंडन पुलिस प्रोटोकॉल का उल्लंघन नहीं है. लंबे बाल रखना अनुशासन के खिलाफ है, लेकिन छोटे कराना या मुंडन कराना नहीं. वहीं दूसरी तरफ पूरे शहर में सिर मुंडवाए ये पुलिसकर्मी चर्चा का विषय रहे.

ये भी पढ़ें:- कनिका कपूर की 6वीं corona रिपोर्ट आई निगेटिव, रहना होगा 14 दिनों तक क्वारंटाइन