बुलंदशहर: क्वारंटाइन खत्म होते ही 45 जमातियों को भेजा गया जेल

बुलंदशहर: कोरोना वायरस महामारी के बीच देश में तबलीगी जमात के कई लोग भी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. वहीं, अब तबलीगी जमात के लोगों पर एक्शन भी लिया जा रहा है. ताजा मामला उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले का है. यहां क्वारंटाइन अवधि समाप्त होने के बाद बुधवार को दिल्ली मरकज से आए 16 विदेशी समेत 45 जमातियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर अस्थाई जेल भेज दिया है.

अस्थाई जेल भेजे गए जमातियों के खिलाफ पिछले दिनों वीजा नियमों का उल्लंघन और लॉक डाउन की शर्तों को तोड़ने को लेकर बुलंदशहर के अलग अलग थानों में एफआईआर दर्ज कराई गई थी. बता दें कि बुलंदशहर के एसएसपी सन्तोष कुमार ने जमातियों को गिरफ्तार कर जेल भेजे जाने की पुष्टि की है.

बुलंदशहर के डिबाई में बनी अस्थाई जेल में भेजे जा रहे इन जमातियों को कोरोना काल में वीजा नियमों और आपदा प्रबंधन कानूनी शर्तों के उलंघन के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. दरअसल, दिल्ली के तब्लीगी मरकज से होकर गंतव्य को जा रहे इन देशी विदेशी जमातियों को बुलंदशहर पुलिस ने गिरफ्तार कर क्वारंटाइन सेंटर भेज दिया था.

क्वारंटाइन की अवधि खत्म होने के बाद इन जमातियों में से 45 जमातियों को गिरफ्तार कर लिया गया और डिबाई के एक स्कूल में बनायी गई अस्थाई जेल भेज दिया गया. अस्थाई जेल भेजे गए जमातियों में 8 इंडोनेशिया और 8 बंगलादेशी जमाती शामिल हैं. वहीं, 29 जमाती देश के विभिन्न राज्यों के है.

आपको बता दें कि बुलंदशहर पुलिस ने टूरिस्ट वीजा पर इंडोनेशिया व बांग्लादेश से आए 16 विदेशी जमातियों के खिलाफ वीजा शर्तो के उलंघन के आरोप में रिपोर्ट दर्ज कर पासपोर्ट जब्त कर लिए थे. वहीं, 29 जमातियों के खिलाफ जानकारी छुपाने, छुपकर रहने व आपदा प्रबंधन कानून के तहत रिपोर्ट दर्ज की थी.

बुलंदशहर में अब तक 6 जमातियों सहित 24 कोरोना के मरीज है, जिनमें से एक कोरोना पॉजिटिव डॉक्टर की मौत हो चुकी है और 2 ठीक होकर अपने घर जा चुके है. जब कि 21 कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज चल रहा है. बुलंदशहर के एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि जिन 45 जमातियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज थी, उन सभी को क्वारंटाइन अवधि समाप्त होने के बाद अस्थाई जेल भेजा गया है.

ये भी पढ़ें:- बुलंदशहर: कोरोना से BJP नेता की हुई थी मौत, अब पत्नी-बेटे की रिपोर्ट आईं पॉजिटिव